इस ब्लॉग पर आने के लिए शुक्रिया, कृपया कमेण्ट्स कर मुझे मेरी गलतियां सुधारने का मौका दें

Tuesday, March 2, 2010

मुख्यमंत्री तो बच गये टोपी पहनने से मगर विधानसभा अध्यक्ष नही अब बच पाये!होली के रंग में डूबा रहा प्रेस क्लब!

प्रेस क्लब मे होली इस बार भी रंगीन रही।जमकर हंगामा हुआ और जिसके मुंह मे जो आया वो बिना सेंसर हुये निकल कर माहौल को रंगीन करता रहा।गुलाल और फ़ाग की मस्ती के बीच हर साल की तरह नानसेंस टाईम्स का विमोचन भी किया गया।रिश्वत्खोर आईएएस अफ़सर के बहाने प्रदेश की बदहाली को होली के रंगीले अंदाज़ मे पेश किया गया और साथ ही प्रदेश मे पत्रकारों के लिये बीमा और पेंशन की मांग भी की गई।मुख्यमंत्री तो नानाजी देश्मुख की अंत्येष्ठी में शामिल होने दिल्ली जाने की वजह से प्रेस क्लब की होली मे शामिल नही हो पाये मगर विधानसभा अध्यक्ष श्री धरमलाल कौशिक शामिल हुये।प्रदेश के मंत्री बृजमोहन अग्रवाल,पूर्व विद्याचरण शुक्ल,हरियाणे के कवि और ब्लागर योगेन्द्र मौद्गिल समेत विधायक और अन्य गणमान्य नागरिकों समेत पत्रकार शामिल हुये।खुलकर खेलो और खुलकर बोलो प्रेस क्लब की होली का मूलमंत्र है और बिना किसी परहेज और लागलपेट के प्रेस क्लब मे होली खेली जाती है।हर साल की तरह यंहा अतिथियों का स्वागत टोपी पहना कर और गोभी,ककडी,मिर्च,भींडी और अन्य सब्ज़ियां देकर किया गया।होली मस्त रही और विधानसभा अध्यक्ष के सामने मैंने प्रदेश का हाल एक आईएएस अफ़सर बाबूलाल अग्रवाल के बहाने बयां कर दिया।बाबूलाल के यंहा हाल ही पड़े छापे में 500 करोड़ रूपये से ज्यादा संपत्ति बरामद हुई थी।मैने कवि प्रदीप के गीत देख तेरे संसार की हालत की तर्ज़ पर कहा,









देख तेरे प्रदेश की हालत,





क्या हो गई धरमलाल,










सुकालू न बदला,





डेरहू न बदला,





न बदला रे मेहतरलाल,





कितने सारे हो गये बाबूलाल!





कितने सारे हो गये बाबूलाल!





डेरहू,सुकालू और मेहतरलाल यंहा के गांव के कामन नाम थे जो आजकल सुनने को नही मिलते।










लिखने को बहुत कुछ है मगर बहुत कुछ ऐसा भी है जो चाह कर भी नही लिख सकता,समझ गये ना आप लोग होली है,होली है।।







18 comments:

जी.के. अवधिया said...

"देख तेरे प्रदेश की हालत,
क्या हो गई धरमलाल,
सुकालू न बदला,
डेरहू न बदला,
न बदला रे मेहतरलाल,
कितने सारे हो गये बाबूलाल!"


बहुत खूब!

दीपक 'मशाल' said...

badhiya holi manai bhaia aapne.. parody mazedaar rahi..

Mithilesh dubey said...

बहुत खूब अनिल भईया ।

ali said...

गुलाल और फ़ाग की मस्ती :)

प्रदेश की हालत :(

ललित शर्मा said...

प्रेस क्लब हुआ होली का धमाल
खुब उड़ा अबीर और उड़ा गुलाल
रंग से गीले हुए भैया धरमलाल
कभी सुकालु भी बना बाबु लाल?


होली की हार्दिक शुभकामनाएं

सुशील कुमार छौक्कर said...

वाह गजब की रही होली।

डॉ टी एस दराल said...

नेताओं के बीच होली का धमाल ! ये तो आश्चर्यजनक लगता है।
लेकिन फोटो देखकर लगता है , बड़ी शानदार रही होगी होली।
बधाई और शुभकामनायें।

Arvind Mishra said...

यह तो जोरदार हो ली

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

आप को और प्रेस क्लब के सभी सदस्यों को होली पर हार्दिक शुभकामनाएँ!

काजल कुमार Kajal Kumar said...

वह जी अच्छा लगा होली यूं मनाना आपका

डॉ महेश सिन्हा said...

बाबूलाल बाबूलाल

योगेन्द्र मौदगिल said...

mazaa aa gaya bhai ji press club me. aapse mulakaat yaad rahegi...aapki jivantata ko pranaam..
--jai ho..

राज भाटिय़ा said...

बहुत सुंदर लगी आप की यह होली, प्रदेश मै ही नही औरे देश मै ही बाबू लाल बहुत हो गये है जी, ओर इन पर कोई बाबू कीट नाशक दवा छिडकनी चाहिये... जिस से यह बिमारी आगे ना फ़ेले

शरद कोकास said...

कितने सारे हो गये बाबूलाल ... हाहाहाहाहाह। इस बाबूलाल का जवाब नहीं । इसका भी अर्थ लोगो को समझा देते तो और मज़ा अता । वैसे " नॉंसेंस टाइम्स " के कुछ समाचार भी स्कैन करके लगा देते तो और मज़ा आता । प्रेस क्लब के सभी सदस्यों को होली की शुभकामनायें ।

Sanjeet Tripathi said...

shandar

Ajay Tripathi said...

vah------vah holi ki topi yane mahamurkh apun to pahna ke bach liye...............

महफूज़ अली said...

भैया.... सादर...नमस्कार.... आपको बहुत फोन किया.....

आपको होली की बहुत बहुत शुभकामनाएं.....

Bhagyodaya Bodh said...

Holi aur Goli ka saath ho,
Sir pe Nathuram ka haath ho,
Senseless logo ka din ho,
Nonsense Times ki raat ho.