Tuesday, January 25, 2011

बहादुर ऐसी कि कंही से नही लगे कि वे बच्चे हैं

प्रेस क्लब में राज्य वीरता पुरस्कार प्राप्त सात बच्चों को हर साल तरह सम्मानित किया गया।सभी बच्चों के बहादुरी के किस्से एक से बढ कर एक।पिछले साल की तरह इस साल भी राज्य के दो बच्चे राष्ट्रीय पुरस्कार के लिये चुने गये हैं।उन बच्चों मे से एक तो धूर नक्सली क्षेत्र की रहने वाली है जो नक्सलियों के चंगुल में फ़ंस गई थी।अंजली सिंह गौतम ने न केवल खुद को बल्कि अपने छोटे भाई को उनके चुंगल से बचाया था।

अध्यक्ष होने के नाते बच्चों को सम्मानित करने का मौका फ़िर मुझे मिला और उन्हे सम्मानित करना मेरे लिये सबसे बड़े सम्मान की बात थी।एक छोटी बच्ची शीतल साध्वी सलूजा से जब मैने उसके स्कूल और क्लास के बारे में पूछा तो वो मेरी भतीजी की क्लास में ही पढने वाली निकली।कक्षा चौथी की बहादुर बच्ची ने अपनी मम्मी की चेन खींचकर भाग रहे लुटेरे पर झपट्टा मारा उअर उसे भागने से पहले गिराने मे सफ़ल रही।
सबसे छोटे बच्चा भागवत यादव पहली रायपुर आया था।ग्रामीण परिवेश के भागवत और उसके भाई युवराज यादव ने दो बच्चों को डूबने से बचाया था।इसी तरह देवाशीष पाण्डेय ने अपनी जान पर खेल कर तीन छात्रों को बचाया थ और चौथे को बचाते-बचाते खुद भी बेहोश कर डूबने लगा था।उसने अंत तक उसे बचाने का प्रयास किया मगर वह उसे नही बचा पाया मगर उसने अपनी जान पर खेलकर तीन बच्चों की जान बचाई थी।जयदीप सिंह बैस और दुर्गेश ओट्टी की भी बहादुरी किसी से कम नही थी।

राज्य के उन जाबांज बच्चों की हिम्मत को हम सबने नमन किया और उनके पालको को भी प्रणाम किया।इस दौरान बच्चों के बारें मे बताते-बताते छत्तीसगढ बाल कल्याण परिषद के मोहन चोपड़ा भाव-विव्हल होकर रो पड़े थे।बच्चों के सेवा मे हमेशा की तरह हमारे पत्रकार साथी स्व्। कुलदीप निगम के अनुज राजेन्द्र निगम पुरी तन्मयता से लगे हुये थे।सच मे बहुत अच्छा लगा उन बच्चों का सम्मान करके।

16 comments:

Rahul Singh said...

प्रेरक. कायम रहे सोच और कर्म की यह उर्जा.

प्रवीण पाण्डेय said...

ये बच्चे ही भविष्य की उम्मीद हैं।

ललित शर्मा said...

सैल्युट है इन्हें और इनके जज्बे को।

आभार

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

ये पुरस्कार बच्चों में साहस और सहयोग की भावना को प्रोत्साहित करते हैं। रायपुर प्रेस क्लब को इस के लिए बधाई!

डॉ टी एस दराल said...

होनहार बिरवान के होत चीकने पात ।
आशा है कि ये बच्चे बड़े होकर भी इतने ही बहादुर इंसान बनेंगे ।

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

बहुत अच्छा लगा इनके बारे में जानकर..

Pratik Maheshwari said...

सच है जी.. यही बच्चे देश का भविष्य हैं... अच्छा लगा इनके बारे में जानकार..

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

सभी बहादुर बच्चों को बधाई ....
गणतंत्र दिवस की शुभकामनायें

चैतन्य शर्मा said...

बहुत ख़ुशी की बात ...... इन सबको बधाई

गणतंत्र दिवस की मंगलकामनाएं

दीपक 'मशाल' said...

In veeron ko pranaam, inka jazba kaayam rahe.

Vijai Mathur said...

आप सब को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएं.

महेन्द्र मिश्र said...

गणतंत्र दिवस पर हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई ...

निर्मला कपिला said...

इन प्रेरनास्वरूप बच्चों को बधाई और आशीर्वाद।
आपको गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें।

यशवन्त माथुर said...

आप सब को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएं.
सादर
------
गणतंत्र को नमन करें

G.N.SHAW said...

bahut hi nek aur shanadar kaam kiya hai aap logo ne .bachcho ko protsahan dena hi chahiye,kyo ki ye hamare bhabisya hai.
wish you happy republic day.

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

गर्व है ऐसे बच्चों पर.