Monday, December 12, 2011

.अन्ना तो बेचारे सीधे-सादे बुज़ुर्ग है जिनके साथ तो सिक्यूरिटी भी नही रहती उन्हे क्या देखना.देखना है तो अपनी-अपनी सिक्यूरिटी भर बस वापस करके दिखा दो

एक बुज़ुर्ग को धमका रहे है कथित दमदार नेता.दबंगई का इतना ही शौक है तो ज़रा उन नेताओं को भी धमका कर देखे तो युपी में खुले आम राहुल को उल्टा-सीधा कह रहे हैं.अन्ना तो बेचारे सीधे-सादे बुज़ुर्ग है जिनके साथ तो सिक्यूरिटी भी नही रहती उन्हे क्या देखना.देखना है तो अपनी-अपनी सिक्यूरिटी भर बस वापस करके दिखा दो,फिर देखो जनता कैसे देखते है,सब को.वाह रे दबंग नेता चमचई के चक्कर में इतना दीवाने हो गये हैं कि अन्ना की उम्र तक़ का लिहाज़ नही रख रहे हैं.करो चमचई जनता सब देख रही है और चुनाव में बता भी देगी,देखा कैसे जाता है.

7 comments:

"जाटदेवता" संदीप पवाँर said...

आपने एकदम सही लिखा है

Shah Nawaz said...

बेहद शर्मनाक है! सत्ता का नशा भी कुछ कम नहीं होता है...

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

अरे इन सब में दम कहां...

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

ताजों तख्तों से लड़ने के लिए सब कुछ छोड़ फकीर होना होता है।

Shah Nawaz said...

मेरी टिप्पणी कहाँ गायब हो गई?

कमलेश भगवती प्रसाद वर्मा said...

beni parsad ki bat kar rahe aap ..bechare khud sidhe chal nahi pate hain bas hawa kar rahe hain..??

Pallavi said...

सही कह रहे हैं आप ...