Tuesday, October 14, 2008

आईपीएल की चीयर लीडर का नाच अश्‍लील तो आईसीएल का क्‍यों नहीं।

एक और माइक्रो पोस्‍ट प्रस्‍तुत है। शरद पवार के नेतृत्‍व वाली बीसीसीआई ने जब आईपीएल 20-20 टूर्नामेंट करवाया तो उसमें नाचने वाली चीयर लीडर के कपड़ों पर भारी बवाल मचा। सारे राष्‍ट्रीय न्‍यूज़ चैनलों को उसमें नंगाई नज़र आई और उन्‍होंने इसे भारत की संस्‍कृति पर हमला मानकर सारा देश को हिलाकर रख दिया। मीडिया के उस हो-हंगामे के बाद यदि चीयर लीडर स्‍कर्ट की जगह पतलून पहनकर नाची। अब आईसीएल का 20-20 टूर्नामेंट चल रहा है। चीयर लीडर छोटे-छोटे कपड़ों में बेधड़क नाच रही हैं मगर आईपीएल में नाच को नंगाई बताने वाले इस बार खामोश बैठे हैं। हो सकता है कि एक कारण ये भी हो कि इस बार नंगाई एक न्‍यूज़ चैनल वालों के टूर्नामेंट में हो रही है। कलर ब्‍लाइंडनेस के बारे में ज़रूर सुना था पर ये न्‍यूज़ ब्‍लाइंडनेस नामक नई बीमारी पहली बार देख रहा हूं। इस देश में अब नंगाई वही होगी जो चैनल वाले बताएंगे, और अगर वे नंगाई को कलात्‍मकता बताए तो भी आपको मानना पड़ेगा।

10 comments:

विवेक सिंह said...

शिव शिव !

ताऊ रामपुरिया said...

इस देश में अब नंगाई वही होगी जो चैनल वाले बताएंगे, और अगर वे नंगाई को कलात्‍मकता बताए तो भी आपको मानना पड़ेगा।

सही लिखा आपने ! बहुत पावरफुल हैं ! इनका कोई क्या कर लेगा.... ?????

श्रीकांत पाराशर said...

Anilji, do baten hain, ek,abki bar rakhi sawant naach rahi hai.vah itni besharm hai ki usse koi bawal khada honewala nahin hai. usko dekh dekh kar log thak gaye hain. do, channelwalon ki ankh ka cornea pata nahin kis cheej ka bana hota hai, usse kewal vahi dikhta hai jo unki marzi hoti hai. Aapko yaad hoga ki ekbar arushi hatya kand ke samay lagbhag 3-4 channels ne ek phone no. screen par dikhaya tha aur sawal uthaya tha ki yah phone no. cid ke kisi bade adhikari ko allot hua tha aur ispar arushi ne kai baar der der tak baat ki. baad men agle din achanak sab channel walon ko sanp sungh gaya. uske baad aajtak kisi channel ne us phone no. ki baat hi nahin ki.kam se kam koi to himmat karta.koi sabse tej hai, koi kewal sach dikhata hai, magar sabne chuppi sadh li. isliye aapto in channelwalon ki baat karke apna bheja mat kharab kiya karo.

रौशन said...

क्योंकि अभी मीडिया भाव नही दे रहा है
अरे चीयर लीडर्स के बहाने न्यूज़ दिखा देते

सागर नाहर said...

पेश है माइक्रो टिप्पणी..
सच कहते हैं आप, मानना पड़ेगा।

Suresh Chiplunkar said...

जब ICL हिट हो जायेगा तब हल्ला मचायेंगे अभी देखते ही कितने हैं? IPL तो पवार और मोदी का था, तो हल्ला मचाने वालों को "माल" भी तगड़ा मिला होगा न…

दीपक said...

आप तो इनके खिलाफ़ लिखना बिलकुल जारी रखे ।बीच-बीच मे हम भी साथ देते रहेंगे !!आभार

Sanjeet Tripathi said...

बहुत सही पकड़ा है बॉस!

makrand said...

bahut sahi pakada
regards

ई-गुरु राजीव said...

अच्छा आई.सी.एल. भी कोई क्रिकेट है !!
हाँ कभी ख़बरों में पढ़ा था. क्या फ़िर हो रहा है ?
पता नहीं भइया कहाँ-कहाँ क्रिकेट हो रहा है. ;)
सब यही सोचते हैं, इनको कोई नहीं देखता.