इस ब्लॉग पर आने के लिए शुक्रिया, कृपया कमेण्ट्स कर मुझे मेरी गलतियां सुधारने का मौका दें

Wednesday, November 26, 2008

देखते है मुम्बई ब्लास्ट के राहिल शेख के कितने नार्को टेस्ट करवाती है एटीएस


चिट्ठाजगत अधिकृत कड़ी



एक माईक्रोपोस्ट...

मालेगाव बम धमाको की जांच स्काटलैंड यार्ड और सीआईए से भी ज्यादा तेज़ काम करने वाले एटीएस की वो तेज़ी अब मुम्बई ब्लास्ट के लँदन मे पकडे गए आरोपी राहिल शेख से पूछ्ताछ मे दिखाई देती है या नही. देखेंगे कितनी बार नार्को टेस्ट कराया जाता है राहिल का और कितनी गिरफ्तारिया होंगी उसके बयान पर. और किस-किस राजनैतिक शख्स को गिरफ्तार करने या उससे पूछताछ करने की इज़ाज़त मांगती है अब एटीएस.

23 comments:

अल्पना वर्मा said...

sahi kahtey hain aap.

Mired Mirage said...

कुछ नहीं होगा ।
घुघूती बासूती

Gyan Dutt Pandey said...

नारको? लंदन से यहां लाये जा रहे हैं क्या राहिल जी?

COMMON MAN said...

sir, narko me to telgi ne sharad ji ka bhi naam liya tha, ek jaanch tak nahi hui unke khilaaf.

Suresh Chiplunkar said...

हाँ भाऊ, हम भी देखना चाहते हैं कि नया तो छोड़ो, तेलगी के पुराने नार्को टेस्ट के आधार पर शरद पवार और भुजबल की गिरफ़्तारी होती है या नहीं…

ताऊ रामपुरिया said...

अभी तो लन्दन से यहाँ लाने में ही पसीने आजायेंगे ! फ़िर जान माल की गारंटी मांगी जा सकती है ! होगा क्या ? कुछ नही !
रामराम !

सृजनगाथा said...

जब राजनीति में पक्षपात आ जाता है वहाँ देशहित हो ही नहीं सकता । हाँ ऐसी राजनीति के सहारे परिवारवाद ज़रूर फूलता फलता रहता है । आखिर हम हम प्रजातंत्र के राजनीतिज्ञ राक्षसों को नीतिगत और मूल्यगत तौर पर मिटाने का संकल्प कैसे लें, यही एक गंभीर संकट है । आपको बधाई ।

संजय बेंगाणी said...

धर्म निरपेक्षता की खातिर तीन बार करवाया जाएगा, अगर सरकार बची तो....

डॉ .अनुराग said...

देखते है किस करवट ऊंट बैठता है ?

Anonymous said...

Hindus do not blood in their veins. Never the sluethes have ever dared arrest any Mulla or Maulvi although every body knows what is happening in most of Madarssas and even masjids. and if any body would have ever arrested any, all the Muslims would have colored the streets of every indian town and city with blood. How many hindus come on road at least to show solidarity with the Sadhwi. we deserve the treatment that is being meted out to us. why to lament.

PN Subramanian said...

ए.टी.एस को अपनी निष्पक्षता प्रमाणित करनी होगी.

Ummed Singh Baid "Saadhak " said...

राहिल शेख दामाद है,कैसा नारको टेस्ट.
चलो खिलायें बिरयानी, अच्छा लगेगा टेस्ट.
अच्छा उसका टेस्ट,धर्म-निरपेक्षता चमके.
सत्ता-मीडीया-सेकूलरों के चेहरे दमकें.
कह साधक वे उनके वोट से आबाद हैं.
सत्ता-मीडीया के राहिल शेख दामाद हैं

Ummed Singh Baid "Saadhak " said...

राहिल शेख दामाद है,कैसा नारको टेस्ट.
चलो खिलायें बिरयानी, अच्छा लगेगा टेस्ट.
अच्छा उसका टेस्ट,धर्म-निरपेक्षता चमके.
सत्ता-मीडीया-सेकूलरों के चेहरे दमकें.
कह साधक वे उनके वोट से आबाद हैं.
सत्ता-मीडीया के राहिल शेख दामाद हैं

अभिषेक ओझा said...

आज फिर मुंबई में ... :(

राज भाटिय़ा said...

हम भी देखे क्या होता है? वेसे पता तो सब को है कि होना कुछ नही.
धन्यवाद

shyam kori 'uday' said...

... सही प्रश्न उठाया है, शायद उत्तर भी सब जानते हैं!

पंगेबाज said...

सरकार सेना और संतो को आतंकवादी सिद्ध करने जैसे निहायत जरूरी काम मे अपनी सारी एजेंसियो के साथ सारी ताकत से जुटी थी ऐसे मे इस इस प्रकार के छोटे मोटे हादसे तो हो ही जाते है . बस गलती से किरेकिरे साहब वहा भी दो चार हिंदू आतंकवादी पकडने के जोश मे चले गये , और सच मे नरक गामी हो गये , सरकार को सबसे बडा धक्का तो यही है कि अब उनकी जगह कौन लेगा बाकी पकडे गये लोगो के जूस और खाने के प्रबंध को देखने सच्चर साहेब और बहुत सारे एन जी ओ तीस्ता सीतलवाड की अगुआई मे पहुच जायेगी , उनको अदालती लडाई के लिये अर्जुन सिंह सहायता कर देगे लालू जी रामविलास जी अगर कोई मर गया ( आतंकवादी) तो सीबीआई जांच करालेगे पर जो निर्दोष नागरिक अपने परिवार को मझधार मे छोड कर विदा हो गया उसके लिये कौन खडा होगा ?

कुश said...

उनको कैसे हाथ लगा सकते है.. वो तो मानव है ना, मानवाधिकार आयोग उनके साथ है.. हिन्दुओ का क्या? साले गंदी नाली के कीड़े.. ए टी एस ने नही मारा तो आतंकवादी मार देंगे.. कल मुंबई में मारा ही है

cmpershad said...

अब तो लाने का ही सवाल नहीं क्यों कि वह पकडा ही नहीं गया!!
>एक और नया अध्याय खुल गया है आतंकवाद का- ब्म्बई ब्लास्ट का - तो भूल जाओ पिछले किस्से और नयी तहकीकात शुरू करो...

poemsnpuja said...

kuch nahin hone wala hai...

इष्ट देव सांकृत्यायन said...

london se unhe yahaan lana hi kaun chahta hai? awwal to agar wo yahan hote to unhe london pahunchaya aya jata. kya pata aisa hi hua bhi ho!

NIRBHAY said...

Behad khatarnak kam kar rahi hai ATS, minorities ki galtiyon ko chhipana yehan tak thik hai, lekin majority ke nationalism par HATHODA chalane ka kam behad Dangerous hoga. Babri masjid tod di gayi aur wahan aaj bhi Ram lala ki puja ho rahi hai, kya ukhad liye muslman is desh ka, nothing. Sach to yeh hai ki BJP ke pas Babri Masjid gir jane ke baad kuchh mudda hi nahi bacha, woh abhi chup baithi hai uske pale me apne aap yeh dangerous mudda aa jayega aur fir baki sabhi political parties ke liye condition (political) out of control ho jayegi. ek ne tala kholwaya tha masjid ka, congress ka pura game ho gaya, dusra Lalu & Amar congress ko pressure de kar short term game khelne ka soch rahe hain wahi bhari pad jayega. Babri masjid ke girne ke bad bus yehi farak pada ki congress ka paramparagat muslim vote bank us se kat gaya, aur SP, Laloo, BSP,Paswan, DMK, AIDMK ne isko loot liya.

Ratan Singh said...

अभी तो लन्दन से यहाँ लाने में ही पसीने आजायेंगे ! होगा क्या ? कुछ नही !