इस ब्लॉग पर आने के लिए शुक्रिया, कृपया कमेण्ट्स कर मुझे मेरी गलतियां सुधारने का मौका दें

Thursday, June 9, 2011

पीएम खुद अपनी सम्पत्ति का ब्यौरा दे रहे हैं!इसका मतलब आपकी अपील पर एक भी मंत्री ने अमल नही किया!

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अपने मंत्रियों से कहा था सम्पत्ति का ब्योरा देने के लिये।पीएमओ से चिट्ठी भी लिखी गई थी सब को।उस चिट्ठी का कितना असर हुआ ये तो पता नही और कित्ने मंत्रियों मे उस पर अमल किया ये भी खबर नही है मगर खुद उनका अपनी सम्पत्ति का ब्यौरा देने की पहल करना इस बात क संकेत देता है कि किसी ने भी उनके दफ़्तर की चिट्ठी का नोटिस तक़ नही लिया और उन्हे खुद पहल करके इस बारे में मंत्रियों को शर्मसार करके सम्पत्ति का ब्यौरा देने के लिये मज़बूर करने वाला कदम उठाया।खैर ये अच्छा किया आपने ब्यौरा देकर हो सकता है कि बहुत से मंत्री भी अपनी यंहा कि सम्पत्ति का ब्यौरा दे देंगे मगर उस सम्पत्ति या काले धन का ब्यौरा कौन देगा जो विदेशों मे जमा है।माना आप ईमानदार है और आप पर कोइ उंगली भी नही उठाता है।और इसिलिये तो आपको लोकपाल बिल के दायरे से बाहर रखा गया है,मगर सवाल आपका नही है आपकी टीम में छिपे बैठे राजाओं का है,कलमाडियों का है,कन्निमोज़ी का है और उन जैसे बहुतेरे लोगों का है।वैसे भी जनता को मालुम है कि आपके पास से कुछ निकल्ने वाला नही है,जंहा माल दबा है सबकी नज़र उधर है।सम्पत्ति का ब्यौरा मामंगने मे ही आपको दो साल लग गये हैं।आप मांगते भी नही शायद अगर इस तरह अन्ना और बाबा आपको डिस्टर्ब नही करते तो।खैर देखते हैं कि कितने मंत्री हिसाब देते हैं और कब देते हैं।कंही अगला चुनाव ना आ जाये हिसाब-किताब करते-करते।

8 comments:

S C Mudgal said...

VO SOCH RAHE HONGE ISKA KYA HAI ACHCHA BHALA RESERVE BANK SE KAMAAYA HUA HOGA, ISLIYE AB APNE KO IMAANDAAR DIKHA RAHA HAI, SAARE PAISE TO SWISS BANK MEIN JAMA HAI ANYATHA BABA RAMDEV KEE MAANG KYON NAHIN MAAN LEE ISNE, HAMARA TO SAARA PAISA HI DESHI BANKO MEIN HAI, GHOSHNA KARKE MARNA HAI, BADI MUSHKIL SE KAMAYI HAI YE DOULAT HAMNE ISE AISE HI NAHIN JAANE DENGE, IS BUDDH... KE PEECHHE CHAL KAR!!!!!!!!!!!

Arunesh c dave said...

क्या करे बेचारे समझ ही पड़ता क्या लिखे क्या नही

प्रवीण पाण्डेय said...

आवश्यक है यह कदम।

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

उनसे किसी मीडिया वाले ने पूछा है आजतक ? और न हिम्मत है पूछने की..

Rakesh Singh - राकेश सिंह said...

कांग्रेसियों की संपत्ति का ब्यौरा भी महज खाना पूर्ति ही होगी, फिर भी इंतज़ार है ..

Atul Shrivastava said...

उस दिन का इंतजार रहेगा
किसके पास कितना माल है
पता तो चले

ZEAL said...

I appreciate this move.

दिगम्बर नासवा said...

Manmohan ji ki koun sunta hai ...