Sunday, July 17, 2011

मां कसम मामू छा गये आप!क्या दूर की कौड़ी लाये हो,एक तीर से दो नही तीन शिकार,मां भी खुश,बच्चा भी खुश,मुसलमां भी खुश और बोनस में मीडिया भी!

गज़ब कर दिया मामू।क्या दिमाग पाया है।चालाकी में तो शायद लोमड़ी भी सुबह-सुबह आपके चरणों पर लोट-लोट लर कह्ती होगी गुरू कुछ तो कमीनापन हम लोगों के लिये भी छोड़ दिया करो।मामू,मान गये आपको जब सारी दुनिया सबूतों के पीछे अपनी जान खपा रही थी तब आपने बेखौफ़ बिना सबूत चड़ड़ी-बनियान गिरोह का नाम आगे सरका दिया।आपने मामू गज़ब का तीर मारा है,फ़िलिम चाईना टाऊन में अपने प्रदेश का बच्चा जब चीख-चीख कर कहता था कि सब ले आओगे मगर जगीरा जैसा कमीनापन कंहा से लाओगे तो सारे थियेटर में तालियां गड़गड़ा जाती थी,आपने तो अपने प्रदेश के बच्चे मुकेश तिवारी उर्फ़ जगीरा को भी धूल चटा दी कमीनेपन में।सारे देश में आपके ही टाईप के लोग फ़्लैट हाथों से तालियां बज़ा रहे हैं।और चिल्ला भी रहे हैं मामू ज़िंदाबाद्।     मामू वैसे मुझे पहले ही शक़ था कि कोई चड्डी-बनियान गिरोह के गिरेहबान में हाथ डाले ना डाले,आप ज़रूर उसका नाड़ा खिंचने की कोशिश करेंगे ही।और आपने की भी,वैसे भी आप पता नही क्यों गरीबों की चड्डी के पीछे पड़ गये हो।माना कि आपका सत्ता में लौटने का खेल उन्होने बिगाड़ा था मगर इसका मतलब ये तो नही कि जब मर्ज़ी गरीबों की चड्डी का नाड़ा लेकर भाग जाओ।                                                                                               खैर मामू,बहुत सही डायलाग मारा है रे बाप!अक्खा मुंबई का मुस्लिम भाई लोग खुश हो गयेला है।और तो और ऊधर पड़ोस के एक  बिल में छुप कर बैठे भाई ने भी आपको बधाई टेलिग्राम भेजेला है।एसएमएस जानबुझकर नही किया क्योंकि उसे आप पर भरोसा नही है,क्या पता आप उसका नम्बर अम्मी को दे दें।जो भी हो मामू,क्या तीर मारेला है।एक साथ तीन-तीन शिकार।अम्मी भी खुश हैं कि आपकी बक-बकर ने उनके मिल्कमेड़ बाय के बयान को पीछे छोड़ दिया है।अम्मी भी खुश हैं और अम्मी का बच्चा भी।उसके साथ-साथ चड्डी-बनियान से चिढने वाले पायजामा गिरोह के लोग भी बेहद खुश हैं।मैडम,मुन्ना,मुस्लिम के साथ-साथ बोनस में मीडिया भी खुश है।कई दिन तक़ इसके काऊण्टर बाईट लेकर स्टोरी बनती रहेगी।वैसे भी बहुत दिनो से मामू आपके अलावा मीडिया का फ़ेवरेट कांट्रोवर्शियल नेता कोई और नही है।मामू आप तो अमर चच्चा को टक्कर दे रहे हो।चच्चा तो मरे जिये खर्चा करके भी इतनी जगह नही पाते थे जितनी आप चडडी बनियान गिरोह को छेड़ कर आप पा रहे हो।                                                                                                                                               जोम भी हो मामू आपने पब्लिक डिमाण्ड पूरी कर ही दी।सारे लोगों को भरोसा था कि कांग्रेस का एकाध आदमी इतने बड़े इश्यू पर कुछ न कुछ तो कहेगा ही।बात आई गई हो गई मगर लोगों को उस समय की लापरवाही भुआये नही भूलती।                                                                                                                                       पता नही मामू कंहा से लाए हो एक से एक आईडिया।वो बड़े बच्चन साब का बड़ा लौण्डा भी टांग़ हिलाहिलाकर वैसे आईडिया नही ला पाता।लेकिन एक बात तो माननी पड़ेगी मामू  आप भी ना मां कसम गज़ब की स्टोरी लाये हो।जाने दो कोई  उनकी बातों का बुरा बही मानते और आशिर्वाद या प्रसाद के मिल बांट के खा लेते है।     सुपर_डुपर हिट हो गया वो तो।सो मामू ऐसे ही घसीटते रहो चड्डी-बनियान गिरोह को ।

5 comments:

KSR Murty said...

Anil Bhaiyya fentastic maja aa gaya.
Aapne blast wale din ye blog post kiya tha ki mouka accha hai RSS ko gasheet do Tripple M factor kaam aayega. Apne mahan neta ne aapke baat maan li. Aap bhi koi kam nahi in netawo ke rag rag se wakib ho.

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

अब डायरिया वाला बयान तो सत्य ही लगता है..

Kajal Kumar said...

:)

Arunesh c dave said...

जय हो जनता की मांग पर आपने ईस्टमेन कलर की शानदार फ़िलिम प्रस्तुत की है :)

deepak said...

dakinoshi pagal per no comment,pagal ko patther marne wale usse go chate thye unki bhi murad puri ho gayi, kyon ki umeed hi aysi thye, nag dasega to jaher hi uglega aur baigawon ko apni bazigari dikhane ka mouka mil jayega per isay haasil kya hoga, maan gaya aap ke dimag ka loha what an idia serji iskey aage kya