इस ब्लॉग पर आने के लिए शुक्रिया, कृपया कमेण्ट्स कर मुझे मेरी गलतियां सुधारने का मौका दें

Wednesday, August 17, 2011

आखिर अनशन के खिलाडी को चुनाव के मैच की चुनौती क्यों?

जिसे देखो वो कह रहा है कि दम है तो चुनाव लड कर देख ले अन्ना!अब मंदिर में रहने वाला अन्ना या फिर कोई और भी भला  1 लाख 76 हज़ार करोड जैसे छोटे-मोटे हाथ मारने वालों के सरताज़ों से चुनाव  कैसे लड सकता है!और फिर यही सवाल क्या देश के सबसे बडे नेता और राज्यसभा की वर्षों से शान बने लोगों से नही पूछा  जा सकता कि ज़रा लोकसभा का चुनाव भी जीत कर दिखा दो भैया!आखिर अनशन के खिलाडी को चुनाव के मैच की चुनौती क्यों?

3 comments:

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

yahi to in logon ki chaalaki hai..

Atul Shrivastava said...

चलो लड भी लें, पर वो एक फिल्‍म का डायलाग है ना, जाओ पहले उस आदमी का दस्‍तखत लेकर आओ......... तो यहां कह सकते हैं कि जाओ पहले उस आदमी को चुनाव लडने कहो जिसने पांच साल प्रधानमंत्री की कुर्सी पर बैठने के बाद दोबारा कुर्सी पर काबिज हो गया पर चुनाव लडने की आज तक हिम्‍मत नहीं की........

Udan Tashtari said...

चिढ़ा रहे हैं..और रस्ता भी क्या है ////