Wednesday, June 5, 2013

कमाल है एक असफल हिरोईन की आत्महत्या इस देश में सबसे बडी खबर बन जाती है.

कमाल है एक असफल हिरोईन की निहायत ही निजी कारणो से की गई खुदकुशी इस देश में सबसे बडी खबर बन जाती है.उस पर चर्चाओ का दौर चल पडता है.उसी देश मे जंहा भूख से एक नही सैकडो किसान खुदकुशी कर चुके हैं.उसी देश में जंहा बेरोज़गारी से त्रस्त सैकडो जवान मौत को गले लगा चुके हैं.उसी देश में जंहा कर्ज़ में डूबे सैकडो मध्यमवर्गीय परिवारो ने एक साथ ज़िंदगी से तौबा कर ली है.उस देश मे एक हताश और निराश हिरोईन की मौत पर टेसूए बहाने वालो को देख कर तरस ही आ सकता है बस.

3 comments:

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

न जाने कितने मुद्दे हवा हो गये इस आत्महत्या के कारण. किसानों की आत्महत्यायें इन चैनलों को नजर क्यों आयेंगी.

पूरण खण्डेलवाल said...

सही कह रहे हैं !!

GYANDUTT PANDEY said...

यह निहायत ऊबता देश है। इसे खबरों में ज्यूस की दरकार होती है।