Tuesday, June 11, 2013

विद्याचरण शुक्ल को भूल नही पायेगा छत्तीसगढ

विद्या भैया हमारे बीच नही रहे.रह गई है उनकी यादें.वो कद्दावर नेता जिसने रायपुर को देश में अलग पहचान दी.मध्यप्रदेश को भी शुक्ल बंधुओं और उनके पिता स्व रविशंकर शुक्ल जी ने पहचान दी थी.सबसे कम उम्र में मंत्री बनने वाले गिने चुने लोगो मे से एक थे वे.विवाद भी उनके साथ बहुत रहे मगर 84 साल की उम्र में नक्सल प्रभावित क्षेत्र का दौरा करना ये बताता है कि उनमे अपने प्रदेश के लिये कितना प्यार था.जिस कांग्रेस में कथित हाईकमान के खिलाफ सोचना तक़ आत्महत्या के समान माना जाता है उसी हाईकमान को एक नही कई बार चुनौतियां दी थी उन्होनें.न वे कभी झुके थे और ना ही टूटे थे.समझौता उन्होने कभी नही किया था.छात्र जीवन से ही विद्या भैया के सैकडो किस्से सुनते आये थे.मुझे उनके समर्थको की सूची में लोग स्थान नही देते थे लेकिन ये तो मै ही जानता हूं कि वे मुझे पसंद करते थे या नही.उनके साथ खट्टे मिठे अनुभवों की लम्बी लिस्ट है.पर मन पता नही क्यों आज भर भर आ रहा है.दोपहर से सोचते सोचते अब जाकर लिखने की हिम्मत जुटा पाया हूं.कुछ दिन पहले ही उनके प्रिय वैभव मिश्रा ने भी मुझसे कहा था कि भैया विद्या भैया पर आपने कुछ नही लिखा,कुछ लिखिये,लोग जानना चाहते है.फिर उनके प्रवक्ता दौलत ने भी कहा पर मौत से जूझते अटल लडैया विद्या भैया पर लिखते समय उंगलिया कांप जाती थी.जितना ऊंचा उनका कद था भारतीय राजनीति में उतनी ही उंचाई वे नाप चुके थे.उनके जैसा ना हुआ है और ना होगा.एक समय भाजपा के ही एक सांसद ने कहा था कि विद्या भैया जैसी टावरिंग पर्सनालिटी हमारे साथ नही है.विद्या भैया को भूल पाना आसान न होगा.दिल से श्रद्धांजलि देता हूं उनको.पता नही 84 साल के बुज़ुर्ग को मार कर नक्सलियों को क्या मिल गया होगा.उनके साथ ही भारतीय राजनीति के एक स्वर्णीम अध्याय की समाप्ति हो गई.भैया आप अमर है,हम सब आपको भूल नही पायेंगे.

4 comments:

arvind mishra said...

हार्दिक श्रद्धांजलि

Rahul Singh said...

विद्याचरण शुक्‍ल जी के लिए जैक डेन्‍टन स्‍कॉट ने 1960 में प्रकाशित पुस्‍तक 'फॉरेस्‍ट्स ऑफ द नाइट' में इस तरह भी उल्‍लेख हुआ था कभी-
This was Vidya Shukla, owner-director of Allwyn Cooper (Private) Limited ... . A member of the House of Parliament, a bright young Indian who knows his way around, Shukla will be heard from in Indian politics if he isn't knocked off by a tiger. Big-game hunting, especially cats, is one of his favorite hobbies the reason for Allwyn Cooper, where he can mix business and pleasure.
विनम्र श्रद्धांजलि.

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

दिल से श्रद्धांजलि ।

प्रवीण पाण्डेय said...

हार्दिक श्रद्धांजलि..