इस ब्लॉग पर आने के लिए शुक्रिया, कृपया कमेण्ट्स कर मुझे मेरी गलतियां सुधारने का मौका दें

Thursday, December 3, 2015

लाश रोक कर बिल की वसूली!ऎसी हैवानियत को सूदखोर के लठैत भी नही करते जैसे ...

1 comment:

Raravi said...

बहुत अच्छा कहा है अापने। समाज को गंभीरता से सोचने की जरूरत है। अाप सछ्छे पत्रकार हैं