Sunday, August 14, 2011

यानी अब जो भी सरकार के खिलाफ बोलेगा,उसे या तो पीटा जायेगा,या उसे दुनिया भर के आरोप लगा कर भरे बाज़ार नंगा कर दिया जायेगा

 एक और छोटी सी पोस्ट.यानी अब जो भी सरकार के खिलाफ बोलेगा,उसे या तो पीटा जायेगा,या उसे दुनिया भर के आरोप लगा कर भरे बाज़ार नंगा कर दिया जायेगा.मतलब ना रहेगा बांस और ना बजेगी बांसुरी.अच्छा हुआ अपुन ने कुछ नही बोला वर्ना स्कूल में पेंसिल,कापी,से लेकर टिफीन की रोटियां,टाफी,छोटे भाई-बहन के गुल्लक से चवन्नी-अट्ठनी चुराने के सारे किस्से सामने आ जाते.बच गया भाई.बाप रे बाप क्या सिस्ट्म है,सूचना एकत्रित करने का.साला जेम्स बाण्ड भी पांव पकड कर चेला बनाने कि चिरउरी करता.

10 comments:

ajit gupta said...

मैं भी ढूंढ रही हूँ, लेकिन खोजने का तो इन्‍हीं का काम है। डर गए हैं हम तो बस।

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

यह सब तो ऐक्सपैक्टिड ही था। लेकिन जो अपने दुश्मन की आदत नहीं पहचानते उनकी जीत की उम्मीद कैसे बन सकती है?

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

ye congress ka loktantra hai ji...

Ratan Singh Shekhawat said...

विनाशकाले विपरीत बुद्धि|

इस सरकार की बुद्धि भी कुछ इसी रास्ते पर अग्रसर है|

डॉ० कुमारेन्द्र सिंह सेंगर said...

http://kumarendra.blogspot.com/2011/08/blog-post_14.html
इस लिंक पर आपकी दृष्टि चाहते हैं..आपकी बात को कुछ इस तरह लिखा है..
जय हिन्द, जय बुन्देलखण्ड

अल्पना वर्मा said...

बहुत दुःख हुआ देख-सुनकर कि अन्ना पर भी दोषारोपण..वर्तमान सरकार की तानाशाही की हद्द है !
बेहद दुखद एवं दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति ..

चंद्रमौलेश्वर प्रसाद said...

अब तो सरकार का यही नारा लगता है-- जो हम से टकरायेगा, उसका मुह काला कर दिया जाएगा॥

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

दूसरी इमरजेंसी की तैयारी है ..

Rahul Kumar Paliwal said...

परिवर्तन संसार का नियम हैं. बहुत कुछ और जल्द ही होगा. बस हमें दर्शक नहीं बनना हैं.

Madhur said...

जो विरोध करता है , उसकी फ़ाइल तैयार करने का प्रचलन इंदिरा गाँधी के समय से है जी . पुरानी परंपरा निभा रही है कांग्रेस ..