इस ब्लॉग पर आने के लिए शुक्रिया, कृपया कमेण्ट्स कर मुझे मेरी गलतियां सुधारने का मौका दें

Wednesday, September 14, 2011

लगता है कि इस देश में बेरोज़गारी, भुखमरी ,भ्रष्टाचार, राजनीति का अपराधिकरण,मूलभूत सुविधा,विकास वैगेराह-वैगेराह से ज्यादा बड़ी समस्या नरेन्द्र मोदी है?

अक्सर नरेन्द्र मोदी पर बह्स होते देख ऐसा लगता है कि इस देश में बेरोज़गारी, भुखमरी ,भ्रष्टाचार, राजनीति का अपराधिकरण,मूलभूत सुविधा,विकास वैगेराह-वैगेराह से ज्यादा बड़ी समस्या नरेन्द्र मोदी है?सभी राजनैतिक चश्माधारियों से क्षमासहित निवेदन कि कृपया मुझे कांग्रेसी या आरएसएस का सद्स्य या एजेन्ट करार ना दे।मैंने ये सवाल सिर्फ़ इसलिये उठाया है क्योंकि जब भी कोई चर्चा होती है सिर्फ़ और सिर्फ़ मोदी ही केन्द्रबिंदु होते हैं।ना अफ़ज़ल,न कसाब,ना बम-ब्लास्ट बस मोदी और मोदी,क्या और कुछ नही है बहस के लिये इस देश में।

6 comments:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

निज भाषा उन्नति अहै, सब उन्नति को मूल।
बिन निज भाषा ज्ञान के, मिटत न हिय को शूल।।
--
हिन्दी दिवस की बहुत-बहुत शुभकामनाएँ!

Ratan Singh Shekhawat said...

विपक्ष में अब सिर्फ एक मोदी ही है जिससे कांग्रेस व तथाकथित सेकुलरता के नाम दुकान चलाने वाले खतरा महसूस कर रहे है यही कारण है कि पूरा सेकुलर गिरोह मोदी के खिलाफ लामबंद है|

और यही सेकुलर लामबंदी मोदी की लोकप्रियता व क़ाबलियत साबित कर रही है|

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

sab dare huye hain ki kahin unki gaddi n chhin jaaye//

Atul Shrivastava said...

ये सब बातें मुद्दों से भटकाने के लिए होती हैं।

दिगम्बर नासवा said...

मोदी भूत के नाम से डरा कर सत्ता जो कायम रखनी है इन्होने ...

परमजीत सिँह बाली said...

जनता को सभी मिल कर बेवकूफ बनाते है इस तरह।