इस ब्लॉग पर आने के लिए शुक्रिया, कृपया कमेण्ट्स कर मुझे मेरी गलतियां सुधारने का मौका दें

Sunday, May 19, 2013

छोटी मछली पकड कर पुलिस ने ईमानदारी से बडे मगरमच्छो को सावधान कर दिया

आईपीएल ही आईपीएल छाया हुआ है अभी.छोटी मोटी मछली पकड कर पुलिस ने पूरी ईमानदारी से इस धंधे के बडे बडे मगरमच्छो को सावधान कर दिया.श्रीसंथ का एमएमएस बनाया जाने वाला था,बनाने के बाद पकडते तो क्या बिगड जाता.एक और बडा अपराध सामने आता.पर हल्ला मचाकर सभी को होशियार कर दिया ठीक उसी तरह जिस तरह रात को गश्त लगाते समय सीटी या सायरन बज़ाकर काम मे लगे चोरो को काम खत्म कर निकल लेने का संकेत दिया जाता है.कुछ सटोरिये भी पकडाये है,मगर बडे सट्टेबाज़ अभी भी इनकी पकड से दूर ही है,या यूं कहिये छोटे बुकी को पकड कर बडे लोगो को दूर तक़ निकल जाने का मौका दे दिया.और सबसे बडा कमाल तो देखिये एक एक सटोरिये के पास से दरज़नो मोबाईल मिल रहे है.दर्ज़नो सिम कार्ड मिल रहे है.साधारण आदमी को सिम लेने में पसीना निकल जाता है.यंहा तो सटोरिया क्या आतंकवादियो तक के पास से सिम मिल रहे है.की है आज तक किसी भी टेलिकाम कंपनी के खिलाफ कार्रवाई?करेंगे भी कंहा से,टेलिकाम कंपनी वाले तो सरकार के दामाद है,लाखो करोडो की घूस देते है.उन्हे कैसे पकडेंगे?बस पकडते रहे हो छोटी मछलियां.और हमारे खोजी भाई दुनिया भर के सवाल उठा रहे है सिवाय सटोरियों के पास मोबाईल और सिम कार्ड मिलने पर उन कम्पनियो को कटघरे में खडा करने के?सवाल मोटे मोटे विग्यापनो कोम भी तो है.

3 comments:

प्रवीण पाण्डेय said...

अब तकतैर कर अरब सागर के पार निकल गये होंगे।

काजल कुमार Kajal Kumar said...

हर शाख पे उल्‍लू बैठा है, क्‍या कीजै

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

यही तो चतुराई है. कम्पनियों का क्या है, वे तो मौज ही करेंगी.